Wednesday, June 29, 2011

पीएचडी के लिए प्रफेसर ने गुरु दक्षिणा में माँगी अस्मत


2 comments:

pramod said...

गुरु का लघु कर्म - अगर ये सही हे तो क्या टिप्पणी करे जिनसे शिक्षा मिलती हे वो अपने ही पेशे को शर्मसार करे -येही वजह हे आज गुरुत्व विहीन समाज हे

Ratan Singh Shekhawat said...

इन कुतों को तो सार्वजनिक तौर पर काला मुंह कर जूते मारने चाहिए

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

FEEDJIT Live Traffic Feed

FEEDJIT Live Traffic Map