Thursday, October 2, 2008

सूर्य नगरी जोधपुर में 224 चिराग बुझे...


8 comments:

राजीव रंजन प्रसाद said...

कार्टोन का यह रंग पहली बार देखा..सचमुच आप संवेदनशील रचनाकार हैं।

ravindra vyas said...

अभिषेकभाई,
सचमुच आंखें भर आईं हैं, और आपने यह मार्मिक कार्टून बनाया है।

varsha said...

ultimate expression

Shekhawat said...

बहुत ही मार्मिक कार्टून है ,इस घटना से बहुत दिल दुखा है |

Arun Aditya said...

मार्मिक कार्टून।

वर्षा said...

उन सभी को हमारी श्रद्धांजलि।

Abhivyakti said...

jahan purana chittha paritosh ki yad
dila , hansa gaya ...vahin ..

naya kartoon ..

uf ! kya drd diya hai .

aap ki is kabiliyat ko salaam !
falen foolen !

Udan Tashtari said...

सही है..मार्मिक!!

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

FEEDJIT Live Traffic Feed

FEEDJIT Live Traffic Map