Wednesday, June 18, 2008

डाक टिकिट


2 comments:

Udan Tashtari said...

यही जमाना आ गया है. :)

संजय बेंगाणी said...

चिट्ठी ईमेल जैसी कुछ होती है, और डाकटिकट सबस्क्रिप्शन चार्ज कूपन सरीखा कुछ :)

सही है, समय बदल रहा है....

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

FEEDJIT Live Traffic Feed

FEEDJIT Live Traffic Map